PM के भरोसे लड़ेगी उपचुनाव भाजपा, स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी

 PM के भरोसे लड़ेगी उपचुनाव भाजपा, स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी

राजस्थान: गुजरात विधानसभा चुनाव की जीत का श्रेय भाजपा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को देती है। लेकिन यहां पार्टी को जीत के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ी थी। अब राजस्थान में होने जा रहे तीन महत्वपूर्ण उपचुनाव के लिए पार्टी की रणनीति ने स्पष्ट कर दिया है कि अब उपचुनाव भी पीएम मोदी के भरोसे ही लड़ा जाएगा। दरअसल भाजपा ने उपचुनावों के लिए स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की है, जिसमें नरेन्द्र मोदी का नाम भी सम्मलित हैं। लेकिन विपक्षियों ने निशाना साधना प्रारंभ कर दिया है कि भाजपा के पास नेताओं की कमी है इसलिए उपचुनाव में भी पीएम प्रचार करेंगे।
कांग्रेस और भाजपा दोनों ने बृहस्पतिवार को 40-40 स्टार प्रचारकों वालों सूची जारी की। ले​किन दोनों की सूची में विशेष बात यह है कि जहां कांग्रेस उपचुनाव के लिए राहुल गांधी की मदद नहीं  लेगी, वहीं भाजपा पीएम मोदी और अमित शाह से प्रचार करवा सकती है। इस​के अतिरिक्त भाजपा अलवर, अजमेर लोकसभा व मांडलगढ़ विधानसभा उपचुनाव के लिए सात केन्द्रीय मंत्रियों का भी सहारा लेगी। जबकि कांग्रेस की स्टार प्रचारकों की लिस्ट में राजस्थान के ही नेताओं को तरजीह दी गई है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस माह दो बार राजस्थान आ रहे है। वे जहां 16 जनवरी को बाड़मेर के पचपदरा में रिफाइनरी का शिलान्यास करेंगे। वहीं 22 जनवरी को झुंझुंनू में एक कार्यक्रम में सम्मलित होंगे। हालांकि पीएम मोदी को उपचुनाव वाले क्षेत्रों में रैली का कोई कार्यक्रम नहीं है। लेकिन माना जा रहा है उपचुनाव के लिए वे दोनों कार्यक्रम स्थलों पर होने वाली जनसभाओं से अवश्य कुछ कहेंगे। राजनीतिक जानकारों का कहना है कि भाजपा को गुजरात विधानसभा के नतीजों के बाद रणनीति में बदलाव करना पड़ा है। चूंकि राजस्थान गुजरात का पड़ौसी राज्य है इसलिए माना जा रहा है कि गुजरात चुनाव के नतीजों का असर राजस्थान में होने जा रहे उपचुनाव के नतीजों में पड़ना तय है। इसी के चलते भाजपा ने इन उपचुनावों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा भी नामांकन की अंतिम तिथि से दो दिन पूर्व ही की है। साथ ही भाजपा पर अब वंशवाद और जातिवाद के भी आरोप लग रहे है। 
राजस्थान में होने जा रहे उपचुनावों के लिए 29 जनवरी को मतदान होना है। ​अब तक करीब 62 प्रत्याशी मैदान में है। लेकिन 15 जनवरी तक नामांकन वापस लिए जा सकते है। इसलिए कितने प्रत्याशी दो लोकसभा व एक विधानसभा चुनाव के लिए मैदान में होंगे यह अभी कहा नहीं जा सकता। कांग्रेस ने अलवर से पूर्व सांसद डॉ करण सिंह, अजमेर से डॉ रघु शर्मा को उम्मीदवार बनाया हैं जबकि मांड़लगढ़ विधानसभा उपचुनाव के लिए विवेक धाकड़ उम्मीदवार होंगे। वहीं भाजपा ने अलवर से डॉ जसवंत, अजमेर से रामस्वरुप लांबा व मांडलगढ़ से शक्ति सिंह को उम्मीदवार बनाया है। 
 

संबंधित ख़बरें