बड़े से बड़े संकट की काट हैं हनुमान का ये मंत्र

बड़े से बड़े संकट की काट हैं हनुमान का ये मंत्र

वैदिक ग्रंथों के अनुसार, मंगलवार का दिन अत्यधिक मंगलसूचक और अनुकूलता लिए हुए है। इस दिन राम भक्त हनुमान जी के मंदिरों में भक्तों का तांता लगा रहता है। संकटमोचन अपने भक्तों के हर संकट को हर लेते हैं। आप भी करें अपनी हर समस्या का निदान।
प्रॉपर्टी से जुड़ी परेशानी के लिए
मंगलवार को हनुमान जी के मंदिर जाकर चालीसा का पाठ करें।
बूंदी या लड्डू का भोग लगाएं।
मंदिर में हनुमान जी के सामने बैठकर ॐ मारकाय नमः मंत्र का जाप करें।
नौकरी या जॉब संबंधित समस्या
बूंदी के 9 लड्डू अर्पित करें।
पीपल के पत्ते पर केसरी रंग के सिंदूर से अपनी समस्या लिखकर हनुमान जी के चरणों में रखें।
उसी स्थान पर हनुमान जी के विशेष मंत्र ॐ पिंगाक्षाय नमः का जाप करें।
प्रतिष्ठा और शोहरत हासिल करने के लिए
जब मंदिर जाएं तो हनुमान जी से पहले श्री सीताराम मंदिर को प्रणाम करें। 
फिर हनुमान मंदिर में बैठे और इस मंत्र का जाप करें। ॐ व्यापकाय नमः
विशेष- 9 मंगलवार तक इस विधि से मंदिर जाएं और मंत्र का जाप करें।
ये संकटहारी मंत्र हर लेंगे सभी दुख-दर्द
पहला मंत्र-  ॐ तेजसे नम:
दूसरा मंत्र-  ॐ प्रसन्नात्मने नम:
तीसरा मंत्र-  ॐ शूराय नम:
चौथा मंत्र- ॐ शान्ताय नम:
पांचवां मंत्र- ॐ मारुतात्मजाय नमः
छठा मंत्र- ऊं हं हनुमते नम:
मंगलवार की शाम 5 बजे के बाद इन मंत्रों की कम से कम एक माला अवश्य करें। घोर से घोर संकट टलेंगे, कष्ट कटेंगे।
 

संबंधित ख़बरें