महाशिवरात्रि पर ऐसे करें शिवजी का अभिषेक, हर कामना होंगी पूरी

महाशिवरात्रि पर ऐसे करें शिवजी का अभिषेक, हर कामना होंगी पूरी

महादेव को भोलेनाथ भी कहा जाता है, क्योंकि तुरंत और तत्काल प्रसन्न होने वाले देवता हैं, इसलिए उन्हें आशुतोष भी कहा जाता है। वैसे तो भगवान शिव को प्रसन्न करने तरह-तरह से उनका पूजन अर्चन किया जाता है मगर भगवान शिव को प्रिय चीजों को अर्पित करने से भोलेनाथ हर कामना पूरी करते हैं। भगवान शिव का अभिषेक तो वैसे हर रोज ही किया जाना चाहिए मगर सावन के महीने और शिवरात्रि पर उनका अभिषेक करने पर उसका पुण्य कई गुना अधिक मिलता है। भगवान शिव के अभिषेक में जिन चीजों का उपयोग किया जाता है उनका अपना अलग महत्व है..............
दूध का महत्व 
माना जाता है कि शिवजी को दूध चढ़ाने से हर तरह की मानसिक परेशानी खत्म होती है। ज्योतिष में इसे चंद्रमा से जुड़े दोष दूर करने का सबसे सटीक उपाय माना गया है।
चावल का महत्व 
अक्षत न हो तो शिव पूजा पूर्ण नहीं मानी जाती। यहां तक कि पूजा में आवश्यक कोई सामग्री अनुपलब्ध हो तो उसके एवज में भी चावल चढ़ाए जाते हैं। सावन में शिवजी को चावल चढ़ाने से अपार धन आैर सौन्दर्य मिलता है।
चंदन का महत्व 
चंदन का संबंध शीतलता से है। भगवान शिव मस्तक पर चंदन का त्रिपुंड लगाते हैं।  चंदन का प्रयोग अक्सर हवन में किया जाता है और इसकी खुशबू से वातावरण और खिल जाता है। यदि शिव जी को चंदन चढ़ाया जाए तो इससे समाज में मान सम्मान यश बढ़ता है।
धतूरा का महत्व
भगवान शिव को धतूरा भी अत्यंत प्रिय है। वैज्ञानिक दृष्टि से धतूरा सीमित मात्रा में लिया जाए तो औषधि का काम करता है और शरीर को अंदर से गर्म रखता है। धतूरा चढ़ाने से शिव हर मनोकामना पूरी करते हैं।
भांग का महत्व 
शिव हमेशा ध्यानमग्न रहते हैं। भांग ध्यान केंद्रित करने में मददगार होती है। इससे वे हमेशा परमानंद में रहते हैं। भांग चढ़ाने से शिवजी चिंताएं व रोग दूर करते हैं।
 

संबंधित ख़बरें