अहमद पटेल पर ईडी की नजर, 500 करोड़ की धोखाधड़ी में आया नाम

अहमद पटेल पर ईडी की नजर, 500 करोड़ की धोखाधड़ी में आया नाम

नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल उनके बेटे और दामाद पर ईडी (एन्फोर्समेंट डायरेक्टरेट) का शिकंजा कस सकता है. मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में एक कॉपोरेट कर्मचारी ने अहमद पटेल उनके बेटे फैजल पटेल और दामाद इरफान सिद्दीकी का नाम ले लिया. संदेसरा ग्रुप के कर्माचारी सुनील यादव ने अपने लिखित बयान में माना है कि इन्होंने इन लोगों को काफी पैसे दिये हैं. 
अपने लिखित बयान में सुनील ने कहा, मैने फैजल के ड्राइवर को पैसे दिये हैं जिसे अहमद पेटल तक पहुंचाना था. सुनील ने यह भी दावा किया है कि संदेसरा ग्रुप के  चेतन संदेसरा हमेशा अहमद पटेल से मिलते थे. पटेल के घर को संदेसरा अपना हेडक्वॉर्टर 23 बताता था. सुनील के इस पूरे बयान को मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के सेक्शन 50 के तहत दर्ज किया है. इस पूरे मामले पर अहमद पटेल ने टिप्पणी से इनकार कर दिया वहीं उनके बेटे और दामाद की तरफ से भी अबतक कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है. दूसरी तरफ समन जारी करने के बाद भी चेतन संदेसरा जांच एजेंसी के सामने पेश नहीं हुए हैं. कंपनी पर 500 करोड़ रुपये बैंक लोन पर धोखाधड़ी का आरोप है. ईडी इस मामले की जांच में लगा है. इस मामले में अहमद पटेल का नाम सामने आने के बाद राजनीति भी तेज है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में एक अहमद पटेल 19 साल तक कांग्रेस अध्यक्ष रही सोनिया गांधी के राजनैतिक सलाहकार रहे हैं. उन्हें गांधी परिवार के काफी करीब माना जाता है.   
 

संबंधित ख़बरें