एलफिंस्टन हादसा: महिला होमगार्डों को दी गई स्टेशनों पर भीड़ प्रबंधन की जिम्मेदारी

एलफिंस्टन हादसा: महिला होमगार्डों को दी गई स्टेशनों पर भीड़ प्रबंधन की जिम्मेदारी

मुंबईः एलफिंस्टन रोड स्टेशन जैसे हादसे की पुनरावृति रोकने के मकसद से पश्चिमी रेलवे ने महाराष्ट्र प्रदेश सुरक्षा सहयोग (एमएसएससी) के जवानों और महिला होमगार्डों को उप-नगरीय स्टेशनों पर भीड़ प्रबंधन की जिम्मेदारी दी है। बता दें, बीते 29 सितंबर को एलफिंस्टन रोड और परेल स्टेशनों को जोडऩे वाले फुट ओवर ब्रिज पर मची भगदड़ में 23 लोग मारे गए थे। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पश्चिमी रेलवे की मुंबई सेंट्रल डिवीजन में भीड़ प्रबंधन, यात्रियों की संरक्षा एवं सुरक्षा के लिए आज एमएसएससी के 232 जवान और 97 महिला होम गार्डों को डिवीजन में शामिल किया गया। अधिकारी के मुताबिक, एलङ्क्षफस्टन रोड स्टेशन हादसे की जांच के लिए गठित एक उच्च स्तरीय समिति ने उप-नगरीय रेल नेटवर्क में रेल सुरक्षा बल (आरपीएफ) के कैडर को बढ़ाने की सिफारिश की थी। उन्होंने बताया, ‘‘इसके बाद रेल प्रशासन ने एमएसएससी और महिला होम गार्डों को यह काम आउटसोर्स कर दिया ।’’ पश्चिमी रेलवे के महाप्रबंधक ए के गुप्ता ने पत्रकारों को बताया कि बुनियादी प्रशिक्षण के बाद शामिल किए गए जवानों को विभिन्न उप-नगरीय स्टेशनों पर तैनात किया जाएगा।
 

संबंधित ख़बरें