कमला मिल्स हादसा में 14 की मौत, पांच अफसर सस्पेंड, मौके पर पहुंचे फडणवीस

कमला मिल्स हादसा में 14 की मौत, पांच अफसर सस्पेंड, मौके पर पहुंचे फडणवीस

मुंबई। मुंबई के एक पॉश इलाके में कमला मिल नामक एक परिसर की छत पर स्थित पब में बीती रात चल रहा जन्मदिन का जश्न करीब दर्जन भर परिवारों के लिए मातम में बदल गया. आधी रात के समय इस पब में लगी आग ने 14 लोगों की जान ले ली और 21 अन्य झुलस गए. इस कांड पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि इस कांड के लिए जो भी जिम्मेदार हैं, उस पर फौजदारी कार्रवाई की जायेगी. उन्होंने कहा कि बिना परमिशन वाले ऐसे अन्य निर्माण को चिह्नित कर तोड़ा जायेगा. शिवसेना ने आज लोकसभा में इस मामले की न्यायिक जांच कराने की भी मांग की. घटनास्थल का मुआयना करने के बाद उन्होंने कहा कि बीएमसी के कमिश्नर को उन्होंने जांच के लिए कहा है. उन्होंने कहा कि निर्दोष की मौत के लिए जो लोग जिम्मेवार होंगे पर पर कार्रवाई होगी.इस मामले में बीएमसी यानी बंबई महानगरपालिका के पांच अफसरों को सस्पेंड कर दिया गया है.मुंबई के शहरी निकाय बृहन्मुंबई महानगरपालिका के एक अधिकारी ने बताया कि रात करीब साढे बारह बजे छत पर स्थित 1 एबव पब में आग लगी और जल्द ही तीसरी मंजिल पर स्थित मोजो पब भी इसकी चपेट में आ गया. केइएम अस्पताल के डीन अविनाश सुपे ने कहा कि 11 महिलाओं सहित ज्यादातर लोगों की मौत धुएं से दम घुटने के कारण हुई है. हादसे में मारे गये और घायल हुए ज्यादातर लोगों को इसी अस्पताल में रखा गया है. हादसे में खुशबू मेहता व उसकी एक दोस्त की भी दम घुटने से मौत हो गयी. खुशबू यहां कल रात अपने जन्मदिन की पार्टी कर रही थी. कुछ अन्य सूत्रों से मिली सूचनाओं के अनुसार, हादसे में मारी गयी महिलाओं में जन्मदिन मना रही लड़की की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो पायी है.हादसे में जले दोनों पब लोअर परेल क्षेत्र में कमला मिल परिसर स्थित ट्रेड हाउस की तीसरी और सबसे ऊपर की चैथी मंजिल पर बने थे. इस परिसर में राष्ट्रीय टेलीविजन चैनलों सहित कई कार्यालय हैं. एक समाचार चैनल के प्रोग्राम प्रोड्यूसर संजय जाधव ने कहा, मैं रात्रि पाली में था. हमने पब से लोगों की चीखें सुनीं. शुरू में हमें लगा, यह वहां चल रही पार्टी का शोर है. जाधव ने कहा, जब मैं कार्यालय से बाहर आया तो, मैंने देखा कि ऊपरी मंजिल के रुफ-टॉप पब में आग लग गयी है. आग की लपटों से हमारे कार्यालय का मुख्य दरवाजा अवरद्ध हो गया. करीब आधे घंटे में ही आग पूरी इमारत में फैल गयी जिस पर काबू पाने में कई घंटे का वक्त लगा. आग लगने के कारणों का अभी तक पता नहीं चला है. मुंबई की एक डॉक्टर सुलभा केजी अरोड़ा ने न्यूज चैनल को बताया कि वह 1 एबव रेस्तरां में थीं. उन्होंने एनडीटीवी से फोन पर कहा, किसी को बाहर भागने का वक्त नहीं मिला क्योंकि आग बहुत तेजी से फैली. रेस्तरां के कर्मचारी ग्राहकों की हरसंभव मदद करने की कोशिश कर रहे थे. उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, भगदड़ मच गई और किसी ने मुझे धक्का दिया. मेरे ऊपर की छत जल रही थी और लोग मेरे ऊपर से भाग रहे थे. मुझे अभी तक समझ नहीं आ रहा है कि मैं, जिंदा कैसे बची. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि दमकल विभाग और पुलिसकर्मी मौके पर पहुंच गये. हादसे में झुलसे 35 लोगों को पब से निकालकर अस्पताल पहुंचाया गया. पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत हृतेष सांघवी, जिगर सांघवी और पब चलाने वाले सी ग्रेड हॉस्पिटैलिटी के अभिजीत मनका के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इनके खिलाफ धारा 337 (दूसरों के जीवन और व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालना) और 338 (दूसरों के जीवन और व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालकर गंभीर चोट पहुंचाना) के तहत मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने आरोपियों में से दो को हिरासत में ले लिया है. गौरतलब है कि इस भवन में समाचार चैनलों टाइम्स नाउ, इटी नाउ और टीवी9 मराठी सहित विभिन्न मीडिया संस्थानों के कार्यालय स्थित हैं. ऐसे आरोप भी लग रहे हैं कि स्थानीय निकाय ने भवन निर्माण में अनियमितताओं और परिसर में अग्निशमन नियमों के उल्लंघन पर कोई ध्यान नहीं दिया था. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर शोक जताया है. राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, मुंबई में आग लगने की दुखद घटना. मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदनाएं और घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना. दमकलकर्मियों और राहत कार्यों में लगे लोगों के अथक प्रयास की सराहना करता हूं. प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, मुंबई में आग लगने की घटना से दुरूखी हूं. दुरूख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं शोकसंतप्त परिजनों के साथ हैं. मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी आग लगने की घटना पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने ट्वीट किया, मुंबई की कमला मिल में आग लगने की दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बारे सुनकर व्यथित हूं. घटना में कई लोगों की जान चली गयी। मेरी संवेदनाएं मृतकों के परिजनों के साथ हैं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं. बीएमसी आयुक्त को इस संबंध में गहन जांच का निर्देश देता हूं. उन्होंने लिखा कि उन्होंने बृहन्मुंबई महानगरपालिका आयुक्त (अजय मेहता) को दोषी अधिकारियों के खिलाफ तत्काल कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है. भाजपा सांसद किरीट सोमैया ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और बीएमसी आयुक्त से मुंबई में इस तरह के सभी पबों और हुक्का पार्लरों में अग्निरोधी उपायों के बारे में आकलन करने को कहा है. उन्होंने दावा किया, मिल परिसर में इस तरह के कई प्रतिष्ठान अवैध हैं, जिसे बाद में नियमित कर दिया गया. जिस स्थान पर आग लगी, वह अवैध था. वहीं, घटना के बाद आशा कुमारी ने कहा है कि वे उस कांस्टेबल की मां की उम्र हैं, उसने मुझे अपशब्द कहे और धक्का दिया, लेकिन मुझे आपा नहीं खोना चाहिए था. मैं उसकी मां की उम्र की हूं. सामाजिक कार्यकर्ता मंगेश कालसकर ने इस अगलगी कांड पर कहा है कि मैं इस मामले की शिकायत बंबई महानगरपालिका से की थी, लेकिन मुझे पत्र लिख कर कहा गया कि इस परिसर में कोई गड़बड़ी नहीं है. 
 

संबंधित ख़बरें