गणेश चतुर्थी: जानिए गणेश चतुर्थी कब और कैसे करें गणेश की पूजा

गणेश चतुर्थी: जानिए गणेश चतुर्थी कब और कैसे करें गणेश की पूजा

गणेश चतुर्थी का शास्त्रों में बेहद महत्व है। कैलेंडर के अनुसर प्रत्येक मास में दो चतुर्थी पड़ती है। पूर्णिमा के बाद पड़ने वाली कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी के तौर पर जाना जाता है। फरवरी माह में इस बार गणेश चतुर्थी 3 फरवरी (शनिवार) को पड़ रही है। फाल्गुन मास की चतुर्थी को पड़ने वाली गणेश चतुर्थी का विशेष महत्व का माना गया है। शास्त्रों के अनुसार जो कोई भी गणेश चतुर्थी के दिन विघ्नाहर्त्ता गणेश जी की उपासना करता है, उसके सभी संकट दूर हो जाते हैं। शास्त्रों में संतान की प्राप्ति के लिए भी गणेश चतुर्थी का विशेष महत्व है। इस दिन गणेश की विधिवत उपासना करने पर उत्तम संतान की प्राप्ति होती है। साथ ही संतान से संबंधित समस्या भी दूर होती है।
गणेश चतुर्थी शुभ मुहूर्त 
गणेश चतुर्थी इस बार 3 फरवरी (शनिवार) को है। इस दिन भगवान गणेश की विधिवत पूजन से जीवन के सभी कष्टों का नाश होता है। इस दिन भगवान गणेश की पूजा सबसे अधिक महत्व बताया गया है। इसके अलावे इस दिन गणेश जी की पूजा से अपयश और बदनामी के दुर्योग भी कट जाते हैं। इतना ही नहीं इस गणेश की पूजा से धन से संबंधित समस्या भी आसानी से दूर होती है।
संतान प्राप्ति के उपाय 
गणेश चतुर्थी संतान प्राप्ति के लिए सबसे उत्तम दिन माना गया है। इस दिन भगवान गणेश की आराधना से सुयोग्य संतान की प्राप्ति होती है।
सुयोग्य संतान की प्राप्ति के लिए रात्रि में चन्द्र देव को अर्घ्य देना चाहिए।
भगवान गणेश के समक्ष तिल के तेल का दीपक जलना चाहिए।
भगवान गणेश को अपनी आयु के बराबर तिल का लड्डू अर्पित करना चाहिए।
गणेश की प्रतिमा के समक्ष ॐ नमो भगवते गजाननाय इस मंत्र का 108 बार जप करना चाहिए।
इस मंत्र का जाप यदि पति-पत्नी एक साथ करें तो अत्यंत लाभ होगा।

संबंधित ख़बरें