गुजरात चुनावः आ गया सर्वे, कांग्रेस को 110 से 115 सीटें

गुजरात चुनावः आ गया सर्वे, कांग्रेस को 110 से 115 सीटें

नई दिल्ली: गुजरात में सियासी रण अब खत्म हो चुका है इंतजार नतीजों का है 18 दिसंबर को साफ हो जाएगा कि बीजेपी जीत का सिक्सर लगाती है। या कांग्रेस महापरिवर्तन कर गुजरात पर कब्जा जमाती है, लेकिन इन नतीजों के ऐलान से पहले ही तमाम एग्जिट पोल्स गुजरात में बीजेपी की सरकार बनाते नजर आ रहे हैं, लेकिन कांग्रेस ने भी अपना आतंरिक सर्वे करवाया है, क्या कहता है कांग्रेस का सर्वे। गुजरात का गढ़ जीतने के लिए कांग्रेस ने इस बार कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है राहुल गांधी तो चुनावी रणभेरी बजने से पहले से ही विकास का मद्दा उठाकर गुजरात में डेरा जमाए हुए थे।
राहुल गांधी की इसी मेहनत का नतीजा है कि इस बार कांग्रेस जातीय समीकरण को पास करने में कामयाब हो गई है अब जब कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी तो भला एग्जिट पोल्स पर विश्वास कर वो ये कैसे मान ले कि राहुल की मेहनत रंग नहीं लाएगी इसीलिए कांग्रेस ने भी अपना आंतरिक सर्वे करवाया। इस सर्वे में जो नतीजे आए...उससे कांग्रेस गदगद है। तमाम एग्जिट पोल्स से इतर पार्टी के सर्वे में दावा किया गया है कि कांग्रेस को 95 से 105 सीटें मिलने की संभावना है, कांग्रेस का मानना है कि चाहे एग्जिट पोल बीजेपी की हवा बनाने के लिए कोई भी आंकड़े दिखाए, लेकिन इस बार जीत तो पक्की है।आंकड़ों के मुताबिक कांग्रेस सत्ता की चैखट तक तो पहुंच रही है लेकिन सीटें मनमुताबिक नहीं है कहा जा रहा है कि गुजरात में पहले कांग्रेस को 110 से 115 सीटें मिल रही थी, लेकिन ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर को दी गई सीटों पर कांग्रेस के अनुमान के मुताबिक पार्टी बेहतर नहीं कर सकी। ओबीसी समुदाय को साधने के चक्कर में कांग्रेस हाल ही में अल्पेश ठाकोर से हाथ मिलाया था...कांग्रेस ने राज्य में 12 विधानसभा सीटों पर अल्पेश के मनमाफिक उम्मीदवार उतारे थे। कांग्रेस के आंतरिक सर्वे में अल्पेश को दी गई सीटों पर पार्टी उम्मीदवार बेहतर नहीं पर पाए हैं. इन 12 सीटों में महज 2 से 3 सीटों पर ही जीत का अनुमान है. एग्जिट पोल्स चाहे बीजेपी को जिताए और कांग्रेस चाहे आंतरिक सर्वे में खुद को जिताए लेकिन चुनावी मौसम में आंकड़े कब बदल जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है अब देखना है कि18 दिसंबर को एग्जिट सही साबित होते है या फिर कांग्रेस का सर्वे ।
 

संबंधित ख़बरें