गुजरात चुनावः दूसरे चरण में 67 प्रतिशत से अधिक वोटिंग का अनुमान

गुजरात चुनावः दूसरे चरण में 67 प्रतिशत से अधिक वोटिंग का अनुमान

गांधीनगर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई के साथ ही सत्तारूढ भाजपा और मुख्य विपक्षी कांग्रेस के लिए करो या मरो की जंग’ और 2019 के लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल’ तक करार दिए जा रहे गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे और अंतिम चरण में आज राज्य के उत्तर और मध्यवर्ती क्षेत्र के 14 जिलों की 93 सीटों पर कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह आठ बजे से शुरू हुआ मतदान शाम पांच बजे समाप्त हो गया और इस दौरान 67 प्रतिशत से अधिक मतदान का अनुमान है।  शाम पांच बजे मतदान समाप्ति के निर्धारित समय भी कई बूथों पर कतारें थी और नियमानुसार उस समय खड़े अंतिम मतदाता के वोटिंग के बाद ही इवीएम को सील किया जायेगा। छिटपुट घटनाओं को छोड़ मतदान आमतौर पर शांतिपूर्ण रहा। मतगणना 18 दिसंबर को होगी।  मतदान में शुरूआती सुस्तरफ्तारी के बाद तेजी आ गई। चुनाव आयोग की ओर से आधिकारिक आंकड़े बाद में जारी किए जाएंगे पर शुरूआती अनुमान के अनुसार औसत मतदान 67 प्रतिशत से अधिक रहा है। अंतिम घंटे में अधिक मतदान होने पर यह 70 प्रतिशत के पार भी जा सकता है। पिछली बार दूसरे चरण में 71 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ था। पिछली बार पहले चरण में तथा दोनो चरणों को मिला कर औसतन 70 प्रतिशत से अधिक का रिकार्ड मतदान हुआ था। इस बार पहले चरण में 66.75 मतदान हुआ था।  सुबह आठ बजे शुरू हुआ मतदान पहले धीमी गति से चला पर बाद में इसमें खासी तेजी आ गयी। आधिकारिक आंकड़े के अनुसार पहले दो घंटे में केवल 12.39 प्रतिशत मतदान हुआ था जो पहले चरण की इस अवधि से भी धीमा था पर अगले दो घंटे यानी 12 बजे तक बढ़ कर 29.30 प्रतिशत, दो बज तक 47.40 प्रतिशत और शाम चार बजे तक 62.37 प्रतिशत हो गया। अंतिम तौर पर 67 प्रतिशत से अधिक वोटिंग होने का अनुमान है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद शहर के साबरमती विधानसभा क्षेत्र के तहत राणिप में निशान विद्यालय पर वोट डाला। वह गुजरात में मतदान करने वाले पहले प्रधानमंत्री हैं। वह आम मतदाताओं के साथ पांच मिनट तक कतार में खड़े रहे। पूर्व उपप्रधानमंत्री और गांधीनगर के लोकसभा सांसद लालकृष्ण आडवाणी ने अहमदाबाद के शाहपुर के ङ्क्षहदी विद्यालय बूथ पर जबकि वित्त मंत्री और गुजरात में भाजपा के चुनाव प्रभारी अरूण जेटली ने वेजलपुर में चिमनभाई पटेल संस्थान बूथ में मतदान किया। राज्यपाल ओ पी कोहली ने गांधीनगर के सेक्टर 20 में मतदान किया।  उधर कांग्रेस ने श्री मोदी के मतदान के बाद सड़क पर चलने को लेकर उन पर आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज करायी है। इसी बूथ पर 2014 में तत्कालीन मुख्यमंत्री के तौर पर उनके मतदान के बाद पत्रकारों से बातचीत और कुर्ते पर भाजपा का चुनाव चिन्ह लगाने को लेकर भी चुनाव आयोग ने आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज कराया था।  मोदी के खिलाफ दायर शिकायत की जांच अहमदाबाद की कलेक्टर अवंतिका सिंह कर रही हैं। गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी बी बी स्वेन ने यह जानकारी दी और बताया कि कांग्रेस की यह शिकायत 11 बज कर 51 मिनट पर मिली थी और इसमें बूथ के आसपास भीड़ जुटने और प्रधानमंत्री के रोड शो करने की आशंका जताई गई थी। उन्होंने यह भी बताया अहमदाबाद के घाटलोडिया, पंचमहाल जिले के गोधरा के अलावा बनासकांठा, पाटन, महेसाणा और खेड़ा जिलों से ब्लू टूथ कनेक्शन के मतदान स्थल के पास मौजूद होने की शिकायतों की जांच की जा रही है। इवीएम से कोई ब्लू टूथ जुड़ नहीं सकता। वैसे सभी मामलों की जांच की जा रही है। वडोदरा के सावली इलाके में दो गुटों में मारपीट की घटना हुई है पर इसका चुनाव से कोई लेना देना नहीं है।  इससे पहले कई स्थानों पर इवीएम में तकनीकी गड़बड़ी के चलते मतदान विलंब से शुरू हुआ और कुछ स्थानों पर लोगों ने स्थानीय मुद्दों को लेकर मतदान का बहिष्कार भी किया। पहले चरण की तुलना में सुबह आज अधिक ठंड होने के बावजूद मतदान शुरू होने के पहले से ही कई स्थानों पर मतदाताओं की लंबी कतारे दिख रही थी। सुबह जल्द मतदान करने वालो में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 97 वर्षीय माता हीराबा ने गांधीनगर उत्तर क्षेत्र में, पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन ने घाटलोडिया में तथा कांग्रेस के अल्पेश ठाकोर ने वीरमगाम के एंदला में वोट डाले। इसके अलावा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अहमदाबाद के नाराणपुरा, पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के नेता हार्दिक पटेल ने अपने गृहनगर अहमदाबाद जिले के वीरमगाम में, उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल ने महेसाणा के कड़ी में, मुख्य सचिव जे एन सिंह ने गांधीनगर तथा मुख्य निर्वाचन अधिकारी बी बी स्वेन ने अहमदाबाद, पूर्व मुख्यमंत्री शंकरसिंह वाघेला ने गांधीनगर, कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सह प्रत्याशी सिद्धार्थ पटेल ने डभोई में, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भरतसिंह सोलंकी ने देंदरड़ा, प्रवक्ता शक्तिसिंह गोहिल ने गांधीनगर, विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगडिया ने अहमदाबाद में वोट डाला।  उधर मतदान के दौरान दाहोद जिले में फतेपुरा पाटिया के निकट भाजपा के उपाध्यक्ष प्रफुल्ल डामोर की गाड़ी पर पथराव में एक व्यक्ति घायल हो गया। बनासकांठा जिले के थराद में बोगस मतदाताओं को लेकर भी कहासुनी की घटना हुई। बनासकांठा जिले के वाव क्षेत्र में एक बाजार में गोदाम से कल देर रात शराब और 12 लाख की नकदी बरामद किये जाने की पड़ताल की जा रही है। इस सीट पर निवर्तमान स्वास्थ्य राज्य मंत्री शंकर चैधरी भाजपा के प्रत्याशी हैं। कुछ स्थानों से दो गुटों में झड़प की भी सूचना है। महेसाणा के भेसाणा में एक इवीएम में कथित तौर पर कोई भी बटन दबाने से एक ही दल को वोट जाने को लेकर उठे विवाद में तीन घंटे से अधिक समय तक मतदान रूका रहा। इसी जिले के विसनगर क्षेत्र के हंसापुर में दो गुटों में हुई झड़प में छह से अधिक लोग घायल हो गए।  जिन सीटों पर आज मतदान हो हुआ उनमें से 2012 के पिछले चुनाव में सत्तारूढ भाजपा ने 52, कांगेस ने 39 और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी तथा निर्दलीय ने एक एक सीट जीती थी। स्वेन ने बताया कि दूसरे चरण के लिए लगभग दो लाख मतदानकर्मी तथा एक लाख से अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए थे। इस दौरान भी पूरी तरह वीवीपैट युक्त इवीएम का इस्तेमाल हुआ।  दूसरे चरण में उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल (महेसाणा), मंत्री भूपेन्द्र चूडासमा (धोलका), मंत्री शंकर चैधरी (वाव), कांग्रेस के अल्पेश पटेल (राधनपुर), पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सिद्धार्थ पटेल (डभोई), कांग्रेस समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार जिग्नेश मेवाणी (वडगाम) जैसे प्रमुख चेहरों समेत कुल 851 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें 69 महिलाएं हैं। भाजपा ने 93 कांग्रेस 91 राकांपा 28, बसपा 75, आप 8, शिव सेना 17, जदयू ने 14 उम्मीदवार उतरे हैं। 350 निर्दलीय तथा गैर मान्यता प्राप्त दलों के 170 उम्मीदवार भी मैदान में हैं। सर्वाधिक 34 उम्मीदवार महेसाणा सीट तथा सबसे कम दो झालोद (आदिवासी सुरक्षित) सीट पर हैं। कुल मतदाताओं की संख्या 2.22 करोड़ है जिसमें 1.15 करोड पुरूष हैं। इनमें से आधे से अधिक 40 साल से कम उम्र के और 15 फीसदी से अधिक 25 साल से कम उम्र के हैं। कुल 24575 बूथ बनाये गये थे। क्षेत्रफल के हिसाब से सबसे छोटा विधानसभा क्षेत्र दरियापुर (6 वर्ग किमी) और सबसे बड़ा राधनपुर (2544 वर्ग किमी) है जबकि मतदाताओं की संख्या के लिहाज से लीमखेड़ा (187245) सबसे छोटा और अहमदाबाद का घाटलोडिया (352316) सबसे बड़ा है। डेढ से दो लाख मतदाताओं वाले सात तथा शेष 86 दो लाख से अधिक वोटरों वाले हैं। पिछली बार दूसरे चरण में इन्हीं क्षेत्र की सीटों (कुल 95) पर 71 प्रतिशत से ज्यादा की रिकार्ड वोटिंग हुई थी। दूसरे चरण के मतदान के साथ ही पहले चरण के चार क्षेत्रों की कुल छह बूथ पर पुनर्मतदान भी हुआ। इन पर इवीएम में चुनाव के पहले जांच के लिए किए गए मॉक पॉल के आंकड़े को मिटाया नहीं गया था। इनमें से दो दो बूथ जामजोधरपुर और उना तथा एक एक निझर और उमरगांव विधानसभा क्षेत्र में हैं। पहले चरण में नौ दिसंबर को 89 सीटों पर हुए चुनाव में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी समेत कुल 977 उम्मीदवार थे। इसके लिए 66.75 प्रतिशत मतदान हुआ था जो पिछली बार से 4 प्रतिशत कम था। पहले चरण की सीटों में से पिछली बार भाजपा को 63, कांग्रेस को 22, गुजरात परिवर्तन पार्टी को दो तथा राकांपा और जदयू को एक एक सीटे मिली थी। कुल मिला कर 182 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा ने 115, कांग्रेस ने 61, गुपपा और राकांपा को दो दो तथा जदयू और निर्दलीय को एक एक सीट मिली थी। इस बार मतगणना 18 दिसंबर को होगी। यहां सामान्य बहुमत का आंकड़ा 92 है।  विश्लेषकों का कहना है कि पिछले 22 साल से सत्तारूढ भाजपा के लिए 2019 के लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल कहे जा रहे इस चुनाव को जीतना सत्तारूढ़ दल के लिए बेहद जरूरी है। दूसरी ओर अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही कांग्रेस के नए अध्यक्ष राहुल गांधी को इसमें पार्टी की जीत से जबरदस्त लाभ और पार्टी के लिए संजीवनी मिल सकती है।  
 

संबंधित ख़बरें