जेल में लालू के सेवादारों- दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करे झारखंड सरकार

जेल में लालू के सेवादारों- दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करे झारखंड सरकार

पटना। चारा घोटाला मामले में रांची के होटवार के बिरसा मुंडा सेंट्रल जेल में बंद लालू यादव की सेवा में उनके दो सेवादार मदन यादव व लक्ष्मण महतो के पहुंचने की खबर पर बवाल मच गया है. रांची के एसएसपी कुलदीप द्विवेदी ने इस संबंध में मीडिया से कहा है कि इसकी जानकारी मीडिया से हमलोगों को मिली है, हम इसकी जांच कर रहे हैं. मीडिया में इस खबर के तूल पकड़ने के बाद सिटी एसपी ने रांची के लोअर बाजार थाना पहुंच कर मामले की पड़ताल की. लोअर बाजार के थाना प्रभारी ने भी मीडिया में इस संबंध में बयान दिया है कि मदन एवं लक्ष्मण नामक दो लोग मारपीट व छिनतई के आरोप में थाने आये थे. वहीं यह मामला सामने आने के बाद बिहार में बवाल मच गया है. जदयू नेता ने झारखंड की भाजपा सरकार से टाइम फ्रेम में तुरंत कार्रवाई  करने और जांच की मांग की है. मामले में मीडिया से बातचीत करते हुए जदयू प्रवक्ता सह विधान पार्षद नीरज कुमार ने कहा कि हमलोगों ने मांग की है कि जल्द से जल्द झारखंड सरकार इसकी जांच कराये. लालू यादव का सेवा कौन कर रहा है, लक्ष्मण यादव मालिस कर रहा है, सेवादार के रूप में है. वह लालू की जाति का है, उनके सामाजिक समूह का है. यही लालू यादव का संस्कार है. नीरज ने कहा कि लालू अपने सामाजिक समूह के लोगों से भी सेवादारी करवाते हैं. इस पूरे प्रकरण से यह स्पष्ट होता है कि सुनियोजित तरीके से लक्ष्मण यादव को जेल भिजवाया गया, ताकि अंदर जाकर वह लालू की सेवा कर सके. नीरज ने कहा कि इससे कोई इनकार नहीं कर सकता है कि इस मामले में पुलिस वाले पूरी भूमिका में शामिल हैं. इसलिए हमारी मांग है कि झारखंड सरकार टाइम फ्रेम के अंदर पूरे मामले की जांच करे कि कौन लोग हैं, जो लालू यादव की सेवा करने के लिए झारखंड के अंदर तैयार हैं. कौन पुलिस वाला है और अधिकारी है, जो लालू की सेवा कर रहा है, 24 घंटे के अंदर उसकी जांच करिए, जो दोषी पुलिसकर्मी हैं, उनको सजा दें.
 

संबंधित ख़बरें