जेल में लालू से नेताओं ने की पहली मुलाकात

जेल में लालू से नेताओं ने की पहली मुलाकात

झारखंड: आरजेडी के प्रमुख लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले के मामले में सजा मिलने के बाद सोमवार को जेल में उनसे लोगों की पहली मुलाकात का सिलसिला शुरू हु। सोमवार को करीब 24 से अधिक नेता और कार्यकर्ता जेल गेट पहुंचे।
इस दौरान लालू प्रसाद यादव को कई अन्य लोगों ने पुलिस के द्वारा उन्हें चूड़ा-गुड़, गर्म कपड़े पहुंचवाए। आपको बता दें कि 6 जनवरी को लालू प्रसाद यादव को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई गई थी। इसके बाद लालू से मिलने के लिए कई लोगों ने सोमवार को उनसे मिलने के लिए आवेदन दिया था। लालू से सोमवार को मुलाकात का दिन होने की वजह से सुबह 9 बजे से ही उनके समर्थकों का जेल गेट पर आना शुरू हो गया था।
जेल प्रशासन ने दी मिलने की इजाजत
हालांकि जेल प्रशासन ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, बिहार के एमएलसी रणविजय सिंह और कटिहार के बरारी विधायक के भाई चंदन कुमार यादव को ही मिलने की इजाजत दी। खबरों से मिली जानकारी के मुताबिक जेल के भीतर सुबोधकांत सहाय और लालू प्रसाद ने ताजा राजनीतिक हालात पर चर्चा की। बता दें कि लालू से जेल में मिलने आए बरारी विधायक के भाई चंदन यादव भूंजा, चूड़ा और गुड़ लेकर आए थे। वहीं राजद नेत्री नीलम यादव ने लालू के लिए गर्म कपड़े पुलिसकर्मियों के माध्यम से पहुंचवाए।
सरकार जेल मैनुअल नहीं रघुवर मैनुअल का पालन कर रही
लालू से मुलाकात के बाद सुबोधकांत सहाय ने कहा कि सरकार जेल मैनुअल नहीं रघुवर मैनुअल का पालन कर रही। वहीं बिहार के एमएलसी रणविजय सिंह ने कहा कि लालू को सजा सुनाए जाने के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील की जाएगी। वहां से न्याय की पूरी उम्मीद है। कानूनी प्रकिया जारी है। 
 

संबंधित ख़बरें