तेजस्वी की मिलीभगत से हुआ सीएम नीतीश के काफिले पर हिंसक हमला: जदयू

तेजस्वी की मिलीभगत से हुआ सीएम नीतीश के काफिले पर हिंसक हमला: जदयू

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की विकास समीक्षा यात्रा के दौरान बक्सर के डुमरांव में हुए हिंसक हमले में एक नया मोड़ आ गया है. मामले पर बिहार में सियासत तेज हो गयी है और विभिन्न पार्टियों के नेता राजनीतिक बयानबाजी कर रहे हैं. वहीं इस मामले में जदयू ने विपक्ष पर गंभीर आरोप लगाया है. जदयू नेता सह प्रवक्ता संजय सिंह ने तेजस्वी यादव के ट्वीट पर तंज कसते हुए कहा कि तेजस्वी के ट्वीट में कोई भी ऐसी बात नहीं है, जिससे यह झलकता हो कि उन्हें इस घटना का कोई अफसोस है. संजय सिंह ने कहा कि तेजस्वी यादव का बयान और स्टैंड दर्शाता है कि सीएम पर हुए हमले में कही न कहीं तेजस्वी यादव की मिलीभगत है और हमला सुनियोजित तरीके से कराया गया है. वहीं दूसरी ओर इस मामले पर जवाब देते हुए कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर हुआ हमला एक गंभीर मामला है और इसे जदयू नेता जानबूझकर हल्का करने में लगे हुए हैं. उन्होंने कहा कि जदयू के नेता जांच रिपोर्ट आने से पहले आरोप लगा रहे हैं. यह पूरे मामले को हल्का कर रहा है. यह गंभीर मामला है. जांच रिपोर्ट से पहले प्रतिपक्ष के नेता पर आरोप लगाना ठीक नहीं है. मामले पर जदयू नेता श्याम रजक ने बोलते हुए कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री सूबे में सतह पर जो काम हुआ है, उसे देखने जा रहे हैं. कुछ लोगों को डर लग रहा है कि आखिर यह काम कैसे कर रहे हैं, इसलिए वह बाधा उत्पन्न कर रहे हैं. मामले पर भाजपा के विधान पार्षद नवल किशोर यादव ने कहा कि जिन लोगों को विकास पच नहीं रहा है, वैसे लोग साजिश करके इस तरह की घटनाओं को अंजाम दिलवा रहे हैं. वहीं, जदयू नेता संजय सिंह पूरी तरह हमलावर बने हुए हैं. जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि तेजस्वी यादव पर आरोप लगाते हुए संजय सिंह ने कहा राजनीति में विरोध होना चाहिए पर हिंसक विरोध की कोई जगह नहीं है. संजय ने कहा कि पुलिस फिलहाल पूरे मामले की जांच कर रही है और इस हमले में जो लोग भी शामिल होंगे उन पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी।
 

संबंधित ख़बरें