फिट रहने के लिए करे वर्कआउट, जाने सही तरीका

फिट रहने के लिए करे वर्कआउट, जाने सही तरीका

फिटनेस कॉन्शस लोग डेली वर्कआउट तो करते हैं, लेकिन कई बार इससे संबंधित जरूरी बातों पर ध्यान नहीं देते हैं। इस वजह से मनचाहा परिणाम उन्हें नहीं मिल पाता है। ऐसे में जरूरी है कि वर्कआउट से संबंधित उन जरूरी बातों के बारे में सारी जानकारी रखी जाए। इस बारे में फिटनेस ट्रेनर सुकांत दास जानकारी दे रहे हैं।
यह तो सब जानते और मानते हैं कि हमें रोज एक्सरसाइज करनी चाहिए। लेकिन इसे लेकर अक्सर कई तरह के सवाल मन में उमड़ते रहते हैं। आइए जानते हैं, कितने समय के लिए और कैसे वर्कआउट करना सही है?
कितनी देर करें वर्कआउट
चाहे महिला हो या पुरुष, किसी भी व्यक्ति को औसतन 1 घंटे तक व्यायाम करना चाहिए। योग, एरोबिक, कार्डियो या किसी भी तरह की एक्सरसाइज उम्र और वजन के हिसाब से फिटनेस एक्सपर्ट तय करते हैं।
सप्ताह में कितने दिन
फील्ड वर्क करने वाले लोग सप्ताह में 4 दिन वर्कआउट करें तो बेहतर है। आॅफिस में सिटिंग जॉब करने वाले को चाहिए कि वे हफ्ते में 5 दिन वर्कआउट जरूर करें। मांसपेशियों को भी आराम की जरूरत होती है। ऐसे में दो दिन आराम करने से शरीर में ज्यादा ऊर्जा महसूस करेंगे।
क्यों जरूरी वॉर्मअप-कूलिंग
योगासन को छोड़कर किसी भी तरह की एक्सरसाइज करने से पहले शरीर को वॉर्मअप करना जरूरी है। इससे शरीर में रक्तसंचार बढ़ाने में मदद मिलती है। एक्सरसाइज करने के बाद शरीर को ठंडा यानी कूलिंग करना भी जरूरी है। इससे हृदय की धड़कन सामान्य होती है। मांसपेशियां, नस और जोड़ अपनी सामान्य अवस्था में आ जाते हैं।
कब करें कार्डियो एक्सरसाइज
कार्डियो प्रोग्राम में साइक्लिंग, जॉगिंग ही प्रमुख होती हैं। ज्यादातर बच्चे 10 साल की उम्र से दौड़ना और साइकिल चलाना शुरू कर देते हैं। किशोरावस्था से कार्डियो प्रोग्राम शुरू कर सकते हैं। मोटापे के शिकार बच्चे बचपन से ही कार्डियो प्रोग्राम शुरू कर सकते हैं।
कैसे हों जॉगिंग शूज
जॉगिंग या रनिंग के लिए जूते खरीदते समय ध्यान रखें कि जूते के सोल बहुत ऊंचे नहीं होने चाहिए। जूते में लचक होनी चाहिए और वे थोड़े हवादार भी हों।
कैसी हो ड्रेस
वर्कआउट के लिए पहनी जाने वाली ड्रेस लूज और कॉटन की बनी होनी चाहिए। टाइट फिटिंग की ड्रेस व्यायाम के दौरान शरीर के रक्त संचार को रोकते हैं। महिलाएं स्पोर्ट्स ब्रेस्ट ड्रेस का प्रयोग करें।
डिनर के बाद कितनी वॉकिंग
रात को खाने के बाद तेज रफ्तार से वॉकिंग के बजाय टहलना फायदेमंद है। सोने से 2 घंटे पहले खाना खाने के बाद घर के रूटीन कामों को निबटाएं, तो भी लाभ होता है।
स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के फायदे 
स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज से शरीर की लचक बढ़ती है, लेकिन कैलोरी या फैट बर्न नहीं होती। ज्यादातर इसे दूसरे व्यायम करने के बाद ही करना बेहतर माना जाता है।
एक्सरसाइज से पहले करें नाश्ता
कई लोगों का मानना है कि एक्सरसाइज हमेशा खाली पेट ही करना चाहिए। लेकिन कुछ फिटनेस एक्सपर्ट्स की मानें तो एक्सरसाइज से पहले कुछ हल्का-फुल्का खा लेना अच्छा रहता है। यह मात्रा काफी कम होनी चाहिए। कार्बोहाइड्रेट शरीर को रीचार्ज करता है इसलिए इस वक्त ऐसे फूड्स लें, जिनमें यह महत्वपूर्ण तत्व मौजूद हो।
खाने में करें ये चीजें शामिल
प्रोटीन शेक- जिम जाने वालों में प्रोटीन शेक काफी लोकप्रिय है। फिटनेस एक्सपर्ट्स कहते हैं कि शरीर के संपूर्ण विकास (मसल्स, हड्डियां और स्किन) के लिए प्रोटीन बेहद महत्वपूर्ण होता है। लेकिन कुदरती स्रोत से पर्याप्त प्रोटीन न मिलने पर ही इसका सेवन करना चाहिए। बेहतर तो यह होगा कि इसके सेवन से बचा जाए।
योगर्ट- योगर्ट में कैल्शियम, प्रोटीन और कुछ मात्रा में नैचुरल चीनी होती है। यह पचाने में बेहद आसान होता है। एक्सरसाइज से पहले एक कटोरी दही में जरा साबुत अनाज, फल और शहद मिला लिया जाए, तो अच्छी-खासी ऊर्जा मिल सकती है।
ओटमील- सुबह-सुबह एक्सरसाइज से पहले ओटमील खाना बेहद फायदेमंद होता है।ओटमील आराम से पच भी जाता है और ऊर्जा का अच्छा स्रोत भी माना जाता है। इसमें कुछ फलों के टुकड़े मिला लें, तो और लाभ मिलेगा।
केला- केले में चीनी और स्टार्च होता है, जिससे शरीर को ऊर्जा मिलती है। ये कार्बोहाइड्रेट से समृद्ध होता है। सेलेब्रिटी फिटनेस ट्रेनर समीर पुरोहित का मानना है कि एक्सरसाइज से घंटे भर पहले मध्यम आकार का केला खाने से पर्याप्त ऊर्जा मिल जाती है।
एनर्जी बार- ग्रैनोला या एनर्जी बार खाने से एक्सरसाइज के दौरान अच्छी खासी ऊर्जा मिलती है। लेकिन इन्हें खाने से पहले चेक कर लें कि इनमें वसा कम हो और प्रोटीन-फाइबर्स की मात्रा अवश्य हो।
 

संबंधित ख़बरें