बुधवार-एकादशी के शुभ योग, इन उपायों से पूरी होगी मनोकामना

बुधवार-एकादशी के शुभ योग, इन उपायों से पूरी होगी मनोकामना

जिस तरह नागों में शेषनाग, पक्षियों में गरुड़, यज्ञों में अश्वमेध और देवताओं में भगवान विष्णु श्रेष्ठ हैं, उसी तरह सब व्रतों में एकादशी का व्रत श्रेष्ठ है. पौषमास के कृष्णपक्ष की एकादशी को सफला एकादशी कहते है जो 13 दिसंबर यानी बुधवार को है. बुधवार गणेश भगवान का दिन है. इसीलिए आज भगवान विष्णु और गणेश दोनों की कृपा एक साथ प्राप्त की जा सकती है. आज के दिन भगवन विष्णु का पूजन और व्रत करना चाहिए. आज के दिन इन ख़ास उपाय को करने से आपकी हर मनोकामना पूरी हो जाएगी और आपको कामयाबी हासिल होगी. आइए जानते हैं कौन से हैं ये खास उपाय...
आज के दिन शाम के समय तुलसी के सामने गाये के घी का दीपक जलाये और ॐ वासुदेवाय नमः मंत्र बोलते हुए तुलसी की 11 परिक्रमा करें. इससे घर में सुख समृद्धि बढ़ेगी और किसी तरह का संकट अगर है भी तो टल जाएगा. अगर घर में कलह कलेश बहुत ज़्यादा रहता है आज के दिन भगवान विष्णु को मखाने की खीर में तुलसी का पत्ता डालकर भोग लगाएं और फिर घर में हर सदस्य को प्रसाद बांटे. अगर आपके मन में कोई मनोकामना है तो आज के दिन भगवन विष्णु की पीले रंग के फूलों से पूजा करें और इस मंत्र का 1 माला जाप करें. ऊँ नारायणाय विद्महे।वासुदेवाय धीमहि।तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।
क़र्ज़ से मुक्ति पाने के लिए आज के दिन पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाएं. पीपल में भगवन विष्णु का वास माना जाता है. आज के दिन भगवन विष्णु की प्रतिमा का केसर मिले हुए दूध से अभिषेक करें और साथ में लक्ष्मी जी का पूजन उनके साथ करें और इस मंत्र का जाप करें ....ॐ महालक्ष्म्यै ........इससे सौभाग्य बढ़ता है और धन लाभ भी होता है.

संबंधित ख़बरें