मुंबई से भागी लड़कियां इंदौर पहुंचीं, ऐसा करने के पीछे की बताई ये कहानी

मुंबई से भागी लड़कियां इंदौर पहुंचीं, ऐसा करने के पीछे की बताई ये कहानी

मुंबई। मां की मौत के बाद पिता द्वारा घर कार सारा काम करवाने से परेशान होकर दो बहनें मुंबई से भागकर इंदौर पहुंच गईं। रविवार रात गश्ती के दौरान पालदा क्षेत्र में ये दोनों लड़कियां घूमती हुई दिखाई दीं। पुलिस ने इन्हें पकड़कर पूछताछ की तो पहले इन्होंने गलत जानकारी दी, लेकिन बाद में मुंबई निवासी होना बताया। पुलिस ने इनके घर पर और मुंबई पुलिस को सूचना दे दी है। भवरकुआं टीआई कृष्णपाल सिंह कुशवाह ने बताया कि रविवार रात टीम पालदा क्षेत्र में गश्ती के लिए पहुंची थी। इसी दौरान टीम को यहां 14 और 16 साल की लड़कियां घूमती हुई दिखाई दीं। संदेह होने पर पुलिस ने उन्हें रोका और पूछताछ की तो एक ने अपना नाम प्रीति और रिद्धी पिता अशोक यादव निवासी हनुमानगढ़ी फैजाबाद उप्र होना बताया, उन्होंने बताया कि वे दोनों सगी बहने हैं। वे पारिवारिक कारणों से परेशान होकर काम की तलाश में इंदौर आई हैं।
इनकी बातों से पुलिस को संदेह हुआ और उन्होंने फिर से पूछताछ की। उन्होंने बताया कि वे सगी बहनें नहीं हैं और ना ही फैजाबाद की रहने वाली हैं। दोनों महाराष्ट्र के दादर की रहने वाली हैं। उनका नाम प्रीति और रिद्धी है। पुलिस ने परिवार और महाराष्ट्र पुलिस को उक्त दोनों लड़कियों के बारे में जानकारी दी। एक ने बताया कि मां की मौत के बाद पिता घर का सारा काम करवाते थे, इसलिए घर से भागकर यहां आ गए। पुलिस को जानकारी मिली कि दोनों लड़कियों घर से बिना बताए कहीं चली गई हैं, जिनकी तलाश दादर पुलिस एवं उनके परिजन कर रहे हैं। परिजन एवं दादर पुलिस बच्चियों को लेने इंदौर रवाना हो गई है।