मुख्यमंत्री ने किया करोड़ों की योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास, नववर्ष की दी बधाई

मुख्यमंत्री ने किया करोड़ों की योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास, नववर्ष की दी बधाई

पटना/जमुई: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विकास कार्यों की समीक्षा यात्रा के दूसरे चरण की शुरुआत गुरुवार को जमुई से की. दूसरे चरण की यात्रा में मुख्यमंत्री जमुई जिले के लक्ष्मीपुर प्रखंड स्थित काला गांव पहुंचे. यहां उन्होंने वार्ड-1 का भ्रमण किया. लोगों ने मुख्यमंत्री का स्वागत हाथ जोड़ कर और जिंदाबाद के नारे लगा कर किया. इसके बाद मुख्यमंत्री जनसभा को संबोधित करने के लिए सभास्थल पर पहुंचे. मुख्यमंत्री ने विकास के लिए 500 करोड़ रुपये की योजनाओं का रिमोट दबा कर शिलान्यास किया. जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बालविवाह और दहेज प्रथा समाज के लिए अभिशाप है. दहेज लेने वालों का बहिष्कार करें. जिस विवाह में दहेज लिया जा रहा हो, वहां समारोह में भाग न लें. बाल विवाह से लड़कियों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है. इसलिए कम उम्र की बच्चियों का विवाह न करें. बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ सशक्त अभियान चलाया जायेगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि सात निश्चय योजना के तहत अगले वर्ष के अंत तक हर घर में पीने का शुद्ध पानी और बिजली पहुंच जायेगी. विकास में किसी तरह की ढिलाई बरदाश्त नहीं की जायेगी. शिकायत के लिए सिर्फ कागज लेकर घूमने से काम नहीं चलेगा. लोक संवाद कार्यक्रम में आएं और अपनी समस्या और सुझाव साझा करें. समाज सुधार के बिना विकास कोई मायने नहीं रखता. मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव के विकास के बिना राज्य का विकास नहीं हो सकता. इसलिए हर गली-टोले का पक्की सड़क से जोड़ा जायेगा. हर गांव में 12वीं तक पढ़ाई की व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी. उच्च शिक्षा के लिए भी छात्रों को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड दिया जायेगा. हर जिले में पॉलीटेक्निक, आईटीआई का निर्माण कराया जायेगा. जमुई सदर प्रखंड के अमरथ में इंजीनियरिंग कॉलेज खोला जायेगा. मुख्यमंत्री ने शराबबंदी के फायदे गिनाते हुए कहा कि शराबबंदी को सफल बनाने के लिए आगे आने की जरूरत है. शराब बेचनेवालों के खिलाफ एकजुट हों. शराब बिक्री पर रोक लगाने के लिए बिजली के हर खंभे पर फोन नंबर अंकित होगा. आप तुरंत सूचित करें. शराब कारोबारियों पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी.  मुख्यमंत्री ने मानव शृंखला में शामिल होने के लिए लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि ज्यादा-से-ज्यादा लोग इसमें भाग लें. इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जमुई की विकास योजनाओं से संबंधित एक पुस्तक का विमोचन भी किया. अंत में मुख्यमंत्री ने संबोधन समाप्त करने से पूर्व लोगों को नये साल की शुभकामना भी दी.
 

संबंधित ख़बरें