युवा हुंकार रैली में पहुंचे जिग्नेश, बोले-दलितों की आवाज दबाना चाहती है सरकार

युवा हुंकार रैली में पहुंचे जिग्नेश, बोले-दलितों की आवाज दबाना चाहती है सरकार

नई दिल्ली: दलित नेता जिग्घ्नेश मेवाणी को दिल्ली में रैली करने की मंजूरी नहीं मिली है। इसके बावजूद जिग्नेश ने संसद मार्ग पर युवा हुंकार रैली कर रहे हैं। जिग्नेश ने दिल्ली जंतर-मंतर पर रैली की इजाजत मांगी थी लेकिन पुलिस ने उनके अनुरोध को मंजूर नहीं किया। जिग्नेश ने कहा कि इस देश में एक निर्वाचित प्रतिनिधि को अगर युवाओं के लिए रोजगार, सामाजिक न्याय और दलितों व अल्पसंख्यकों के लिए बोलने नहीं दिया जाएगा, तो इससे ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण क्या होगा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार दलितों की आवाज दबाना चाहती है। इससे पहले नई दिल्ली के पुलिस उपायुक्त ने ट्वीट किया, ‘‘संसद मार्ग पर प्रस्तावित विरोध प्रदर्शन को एनजीटी के आदेश के मद्देनजर अबतक मंजूरी नहीं दी गई है। आयोजकों को वैकल्पिक जगह पर जाने की सलाह दी गई है जो वे स्वीकार करने को तैयार नहीं हैं।’’ एनजीटी ने पिछले साल पांच अक्तूबर को अधिकारियों को जंतर-मंतर रोड पर धरना, प्रदर्शन, लोगों के जमा होने, भाषण देने और लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल संबंधी गतिविधियां तत्काल रोकने का आदेश दिया था। रैली करने से पहले जिग्नेश काफी समय तक कनॉट प्लेस पर रुके रहे।
 

संबंधित ख़बरें