योगी सरकार ने वापस लिया फैसला, जिन छात्रों के पास नहीं है आधार कार्ड उनको राहत

योगी सरकार ने वापस लिया फैसला, जिन छात्रों के पास नहीं है आधार कार्ड उनको राहत

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद बनी नई सरकार ने पिछले दिनों कड़ा कदम उठाते हुए 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड परीक्षा में परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र के साथ आधार कार्ड जोड़ना अनिवार्य कर दिया था, लेकिन सरकार ने अब अपना यह फैसला वापस ले लिया है. इससे ऐसे परीक्षार्थियों को लाभ मिलेगा जो अभी तक अपना आधार कार्ड नहीं बनवा सके हैं. उप्र बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव के मुताबिक, परीक्षार्थियों को इस बार की बोर्ड परीक्षा में प्रवेश पत्र के साथ आधार कार्ड लाना जरूरी नहीं होगा. हालांकि, नए सत्र में 9वीं और 11वीं कक्षा में रजिस्ट्रेशन के समय आधार कार्ड जरूरी रहेगा.
गौरतलब है कि योगी सरकार के फैसले पर न सिर्फ सवाल उठ रहे थे, बल्कि परीक्षा से ठीक दो महीने पहले जारी किए गए उक्त आदेश के चलते विवाद भी शुरू हो गया था. उत्तर प्रदेश बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा छह फरवरी से शुरू हो रही है. बोर्ड के सूत्रों के मुताबिक, योगी के कार्यकाल में हो रही पहली बोर्ड परीक्षा में नकल रोकने और फर्जीवाड़ा रोकने के लिए एडमिट कार्ड के साथ आधार कार्ड को अनिवार्य कर दिया था.श्रीवास्तव के मुताबिक, हालांकि इस बार नकल रोकने के लिए बोर्ड ने कई सख्त कदम उठाए हैं. इसके तहत जहां सेंटर्स का निर्धारण पहली बार पूरी तरह से ऑनलाइन किया गया है, वहीं सारे कॉलेजों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने की भी तैयारी चल रही है.

संबंधित ख़बरें