2019 लोकसभा चुनाव: BJP ने शुरू की तैयारी,चलाएगी मिलेनियम वोटर अभियान

2019 लोकसभा चुनाव: BJP ने शुरू की तैयारी,चलाएगी मिलेनियम वोटर अभियान

नई दिल्‍ली: बीजेपी ने 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं. एक फरवरी को मोदी सरकार का अंतिम पूर्ण बजट पेश होगा और अब पार्टी की सारी कवायद इस बजट को किसानों और युवाओं के लिए सौगात देने तथा लोकसभा चुनाव के लिए मजबूत नींव तैयार करने की है. पीएम नरेंद्र मोदी गुरुवार शाम अपने सरकारी निवास 7 लोक कल्याण मार्ग पर बीजेपी के सभी राष्ट्रीय पदाधिकारियों और राज्यों के चुनाव प्रभारियों से मुलाकात कर रहे हैं. इस बैठक में तमाम संगठन मंत्री भी मौजूद रहेंगे. रात्रि भोज के साथ पीएम मोदी अगले लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर चर्चा करेंगे और जीत का गुरुमंत्र देंगे. पार्टी के प्रदर्शन और तैयारियों का जायजा लिया जाएगा. साथ ही, सरकार का काम आम जनता तक किस हद तक पहुंचा है, इसकी समीक्षा भी की जाएगी. बीजेपी की ये पूरी कवायद संपर्क या कनेक्ट के नाम से है. यानी पार्टी का जनता से कनेक्ट. इसी श्रृंखला में कुछ और भी संपर्क अभियान चलाने की योजना है. चौदह जनवरी को खर मास पूरा होने के साथ ही बीजेपी औपचारिक रूप से अगले लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुट जाएगी. गौरतलब है कि हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार एक महीने के खर मास में शुभ कार्य नहीं किया जाता है. बीजेपी 25 जनवरी से 10 फरवरी तक मिलेनियम वोटर अभियान चलाएगी. इसका जिम्मा पार्टी के युवा मोर्चे को सौंपा गया है. इसमें इस साल 18 वर्ष पूरे करने वाले किशोरों को मतदाता सूची से जोड़ने का अभियान होगा. इसे नव मतदाता पंजीकरण अभियान का नाम दिया गया है. पीएम मोदी ने अपने मन की बात कार्यक्रम में साल 2000 में जन्मे बच्चों को खासतौर से बधाई दी थी. वे सभी इस साल 18 साल के हो जाएंगे और वोट देने के पात्र होंगे. इस अभियान के लिए राष्ट्रीय स्तर पर मोबाइल ऐप जारी किया जाएगा तथा इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाएगा. युवा मोर्चा एक काम और अपने जिम्मे लेगा. 12 जनवरी को विवेकानंद जयंती से 23 जनवरी यानी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन तक हर जिले में स्वयंसेवी रक्त दाताओं की सूची बनाई जाएगी. यह सूची केंद्रीय कार्यालय को भेजी जाएगी. इन स्वयंसेवी रक्त दाताओं का रक्तदान शिविर भी आयोजित होगा. मोर्चे का लक्ष्य हर राज्य में एक लाख स्वयंसेवी रक्तदाताओं की सूची तैयार करना है. इसके पीछे सोच यह है कि जरूरत पड़ने पर रक्तदाताओं से संपर्क कर रक्त की व्यवस्था की जा सके.
इस कार्यक्रम का मकसद हर बूथ पर युवाओं के ग्रुप बनाना है. ये सभी युवा सोशल मीडिया के माध्यम से जुड़े रहेंगे. इन्हें समय-समय पर केंद्रीय कार्यालय की ओर से सरकार के कामकाज के बारे में जानकारियां उपलब्ध कराई जाएंगी.
देश भर के कॉलेजों में युवाओं को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है. इसमें सभी कैंपस में सोशल मीडिया तथा अन्य माध्यमों के जरिए युवाओं को जोड़ा जाएगा. इन्हें युवाओं के बारे में सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारियां दी जाएंगी. बीजेपी ने युवाओं को अपने साथ जोड़ना प्राथमिकताओं की सूची में सबसे ऊपर रखा है. इसके लिए पूरे संगठन को झोंकने का फैसला किया गया है. बाबा साहब अंबेडकर के जन्मदिन 14 अप्रैल के एक दिन पहले देश के हर जिले में समरसता भोज का आयोजन भी होगा, जिसमें सभी युवा साथ बैठ कर जातियों और धर्मों की सीमाओं को लांघने का संदेश देंगे.

संबंधित ख़बरें