IND VS SL : टीम इंडिया के लिए करो या मरो का मुकाबला

IND VS SL : टीम इंडिया के लिए करो या मरो का मुकाबला

नई दिल्ली: पहले वनडे में श्रीलंका से मिली करारी हार के बाद आज भारतीय टीम दूसरा मुकाबला जीतने को उत्सुक होगी. पहले वनडे में भारत को श्रीलंका ने सात विकेट से हराया था. भारत के लिए महेंद्र सिंह धोनी को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया था. इस मैच में धोनी ने 65 रनों की पारी खेली थी. रोहित शर्मा की कप्तानी में खेला गया पहला मैच भारत के लिए बेहद निराशाजनक रहा था. इस लिहाज से रोहित शर्मा की कप्तानी का आज फिर से टेस्ट होगा. भारतीय टीम किसी कारणवश आज का मुकाबला नहीं जीत पाती है तो वह सीरीज भी गंवा देगी. वहीं, श्रीलंका ने अपने प्रदर्शन से सभी को चौंकाया है. भारतीय टीम बुधवार को आई.एस. बिंद्रा स्टेडियम में खेले जाने वाले दूसरे वनडे में श्रीलंकाई आक्रमण के खिलाफ नई शुरुआत करने के इरादे से उतरेगी. धर्मशाला में खेले गए पहले मैच में भारतीय बल्लेबाज पूरी तरह से श्रीलंकाई आक्रमण के सामने नतमस्तक हो गए थे. 29 रनों पर ही मेजबान टीम ने सात विकेट खो दिए थे. उसका 50 का आंकड़ा भी छू पाना मुश्किल हो रहा था, लेकिन टीम के सबसे अनुभवी बल्लेबाज महेंद्र सिंह धौनी ने 65 रनों की पारी खेल भारत को बेहद शर्मनाक स्थिति में जाने से बचाया था और 100 का आंकड़ा पार कराया था. मोहाली की वातावरण धर्मशाला की तरह बेशक ठंडा न हो, लेकिन इस विकेट पर तेज गेंदबाजों को मदद मिल सकती है. ऐसे में इस मैच में पूरे आत्मविश्वास के साथ उतरने वाले श्रीलंकाई गेंदबाज एक फिर इस विकेट पर भारतीय बल्लेबाजों को परेशान कर सकते हैं. ऐसे में भारतीय बल्लेबाजों को इस मैच में एहतियात बरतने और पिछले मैच में की गई गलतियों से सीखने की जरूरत है. उसके सभी बल्लेबाजों को एक बार फिर अपना वही दम दिखाना होगा जो उन्होंने न्यूजीलैंड और आस्ट्रेलिया के खिलाफ दिखाया था. विराट कोहली इस सीरीज में नहीं हैं, ऐसे में पिछले मैच में अजिंक्य रहाणे को अंतिम एकादश से बाहर रखने का फैसला टीम प्रबंधन की रणनीति पर सवाल खड़ा करता है. पिछले मैच में पदार्पण करने वाले श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, हार्दिक पांड्या जैसे युवा बल्लेबाजों का बल्ला खामोश रहा था तो कप्तान रोहित, शिखर धवन और अनुभवी बल्लेबाज दिनेश कार्तिक भी विफल रहे थे. गेंदबाजी विभाग में भारत को हालांकि अपना कमाल दिखाने का पिछले मैच में ज्यादा मौका नहीं मिला था, लेकिन जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और पांड्या ने एक-एक विकेट जरूर लिए थे. वहीं, कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल को गेंदबाजी करने का मौका नहीं मिला था. श्रीलंकाई टीम पिछले मैच में अपने प्रदर्शन से सातवें आसमान पर होगी, लेकिन वह इस बात को भलीभांती जानती है कि मेजबान जख्मी शेर है जो हर स्थिति में वापसी करने का माद्दा रखता है. ऐसे में वह किसी भी तरह की लापरवाही नहीं बरतनी चाहेगी. पिछले मैच में एंजेलो मैथ्यूज, उपुल थरंगा ने अच्छी बल्लेबाजी की थी. गेंदबाजी में सुरंगा लकमल ने चार विकेट लेकर भारतीय बल्लेबाजी की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी थी. अकिला धनंजय और सचिथा पाथिराना की स्पिन जोड़ी ने भी तेज गेंदबाजों का अच्छा साथ दिया था.

संबंधित ख़बरें