Shivratri Special: ये है वो जगह जहां मौजूद है 108 शिव मंदिर

Shivratri Special: ये है वो जगह जहां मौजूद है 108 शिव मंदिर

शिवरात्रि का त्यौहार आने में अब कुछ ही समय बचा है। यह दिन शिव भगतों के लिए बहुत खास होता है। महादेव को खुश करने और मनचाहा वर मांगने के लिए इस दिन लोग व्रत रखकर उनकी पूजा करते हैं। वैसे तो भारत के कौने-कौने में भगवान शिव के मंदिर हैं लेकिन एक जगह पर महादेव के 108 छोटे-बड़े मंदिर हैं। इस जगह को शिव नगरी भी कहा जाता है। अगर आप भी इस शिवरात्रि पर माउंट आबू यानि शिव नगरी के मंदिरों में जाना चाहते हैं। तो आज हम आपको वहां के प्रसिद्ध 5 मंदिरों के बारे में बताएंगे जिनका इतिहास 5000 साल पुराना है।
1. अचलगढ़
महादेव के इस अनोखे मंदिर में शिंवलिंग की नहीं, बल्कि उनके अगूठें की पूजा की जाती है। जिस पानी से शिव के अगूठें का अभिषेक किया जाता है वह पानी भी एक रहस्य है। वहीं पहाड़ी के तल पर 15वीं शताब्दी में बने अचलेश्वर मंदिर में भगवान शिव के पैरों के निशान आज भी मौजूद हैं।
2. वास्थान जी
इस मंदिर में शिवजी के साथ विष्णु भगवान का मंदिर भी बना हुआ है। यहां पर महादेव से पहले विष्णु की पूजा की जाती है। ऐसी मान्यता है कि यहां पर मांगी आपकी हर इच्छा को भगवान शंकर के साथ-साथ विष्णु का आशीर्वाद भी मिलता है। 
3. सोमनाथ शिव मंदिर
इस अनोखे मंदिर में कुल 12 ज्योतिर्लिंग बनाएं गए है। ऐसा माना जाता है कि महादेव के इस सबसे पुराने मंदिर में उनका वास आज भी है।
4. अर्बुद नीलकंठ मंदिर
अर्बुद नीलकंठ मंदिर में जाने के लिए आपको 350 सीढियां चढ़नी पड़ेगी। नीलम पत्थर से बना यह मंदिर माउंट आबू का सबसे फेमस स्थान है। मंदिर के साथ-साथ यहां शिवलिंग भी नीले पत्थर का बना हैं, जिसके कारण इसे नीलकंठ मंदिर भी कहा जाता है।
5. लीलाधारी महादेव मंदिर
कहा जाता है कि रावण की तपस्या से खुश होकर भगवान शिव ने उन्हें वर मांगने के लिए कहा, जिसमें उन्होंने शिवलिंग की मांग की। जब वो इस शिवलिंग को लंकापुरी ले जा रहें थे तो किसी कारण उन्हें यह शिवलिंग माउंट आबू पर रखना पड़ा और वो वहीं स्थापित हो गया।
 

संबंधित ख़बरें