• मथुरा कृष्ण जन्मस्थली का इतिहास

    मथुरा, I तीन लोक से न्यारी नगरी का इतिहास बहुत उथल पुथल वाला रहा है ! मधु दैत्य की बाद यह मधु-वन उसके पुत्र लवणासुर के अधिकार मे आया! दशरथ पुत्र शत्रुघ्न जी ने लवणासुर का वध किया एवम् यह जंगल को साफ़ करवाकर शहर बसाया! शहर का नाम मधु-पुरी या मथुरा था! शत्रुघ्न जी के देवरोहण के बाद गोवेर्धन के राजा भीम ने मथुरा को अपने अधिकार क्षेत्र मे ले लिया! उसके बाद यह 'ज़दु' के अधिकार क्षेत्र में आया, इसी 'ज़दु वंश के आख़िरी राजा उग्रसेन थे! - मध्यकालीन एवम् आधुनिक इतिहास: ६ शताब्दी ईसा पूर्व: सुरसेन राज्य की राजधानी (सूरसेनी) २ शताब्दी ईसा पूर्व: बौद्ध धर्म की मथुरा मे शुरुआत मौर्या साम्राज्य (३२२ - १८५ ईसा पूर्व):अपने पूर्ण वैभव पर, बौद्ध धर्म की शुरुआत कुशान साम्राज्य (३० - ३७५ ईसवी): कनिष्क की राजधानी, पूर्ण वैभव, बौद्ध धर्म गुप्त साम्राज्य (

  • मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के हेलीकॉप्टर की क्रेश लैंडिंग

    लातूर। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के हेलीकॉप्टर की क्रेश लैंडिंग करानी पड़ी जिसमें देवेंद्र फडणवीस आज बाल-बाल बच गए। लातूर में सीएम के हेलीकॉप्टर ने जैसे ही उड़ान भरी तो उसमें कुछ गड़बड़ी आ गई जिसके बाद हेलीकॉप्टर की क्रेश लैंडिग करानी पड़ी। इस लैंडिंग में हेलीकॉप्टर का कुछ हिस्सा छतिग्रस्त हो गया। हांलांकि सीएम पूरी तरह सुरक्षित हैं। मुख्यमंत्री लातूर से निलंगा तालुका जा रहे थे, इसी दौरान यह हादसा हुआ। हेलीकॉप्टर में मुख्यमंत्री और पायलट समेत पांच लोग सवार थे। वहीं मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने खुद ट्वीट करके इस हादसे की जानकारी देते हुए कहा, “लातूर में हमारे हेलीकॉप्टर के साथ हादसा हो गया। मैं और मेरी टीम सुरक्षित है। फिक्र की कोई बात नहीं।”

  • थाने से नहीं हो रही सुनवाई तो आईजी से इस पर

      आगरा। योगी सरकार ने पुलिस महकमे में सुधार के लिए कई कदम उठाए हैं। आगरा जोन आईजी सुजीत पांडे ने आम आदमी ​की शिकायतों के निस्तारण के लिए पहल की है। उन्होंने शिकायती व्हाट्सएप जारी किया है, इसके जरिए शिकायतकर्ता तक पुलिस मदद पहुंच सकेगी।   शिकायत के लिए अब आपको बार बार पुलिस स्टेशन के लिए नहीं जाना पड़ेगा। आपको अब अधिकारियों के पास आप अपनी शिकायतें व्हाट्स एप्प के माध्यम से सीधे आईजी ऑफिस आगरा को प्रेषित कर अपनी समस्या का निदान पा सकते हैं। इसके लिए अब आपको केवल शिकायती व्हाट्सएप्प नंबर "9454405165" पर व्हाट्सएप्प मेसेज करना होगा। प्रत्येक शिकायत की शिकायत संख्या तुरंत शिकायतकर्ता को प्रदान की जाएगी ताकि शिकायत संख्या के द्वारा अपनी शिकायत की प्रगति को शिकायकर्ता जान सके।    आईजी आगरा सुजीत पाण्डेय ने जन समस्

  • नक्सली हमले में शहीद हुए अपने पति की अर्थी को कंधा देकर इस बहादुर महिला ने दी आख़िरी सलामी

      अमृतसर I पिछले कुछ दिनों से आये दिन छत्तीसगढ़ में नक्सली हमलों की वारदातें हो रही हैं आये दिन सेना के जवान इन हमलों में शहीद हो रहे हैं. इन हमलों में जवानो की मौत की खबर उनके घर वालों पर दुखों का पहाड़ लेकर आती है. पिछले हफ़्ते भी सुकमा में तैनात सुरक्षबलों पर नक्सलियों ने हमला कर दिया, जिसमें 25 जवान शहीद हो गए.   ये हमला उस वक़्त हुआ, जब CRPF के ये जवान दोपहर का खाना खा रहे थे. तभी अचानक ही नक्सलियों ने इन पर हमला बोल दिया. 25 जवानों की मौत के बाद हर बार की तरह ही इस बार भी सरकार ने वादा किया और कहा कि जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी. लेकिन वादे करना तो आसान होता है. गौरतलब है कि इस हमले में शहीद हुए जवान अपने परिवार में अकेले कमाने वाले थे और उनके ऊपर ही परिवार की पूरी ज़िम्मेदारी थी.   पिछले हफ्ते हुए इस नक्सली हमले