हेल्थ

  • आयरन की कमी तो दूर करेगा ये फल

    शरीफा या सीताफल (कस्टर्ड ऐपल) एक प्रकार का फल है। इसका वानस्पतिक नाम अन्नोना स्क्वामोसा है। यह खाने में काफी मीठा और स्‍वादिष्‍ठ होता है। इसमें कई तरह के औषधीय गुण मौजूद हैं। शरीफा में काफी मात्रा में विटामिन सी, विटामिन ए, राइबोफ्लेविन, थियामिन, नियासिन जैसे तत्‍व पाए जातें हैं। इसके अलावा इसमें पोटेशियम, कैल्शियम, आयरन, मैग्नेशियम, मेगनीज, फास्फोरस भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। अन्‍य फलों की अपेक्षा आयरन की अधिकता होती है। शरीफा के बीज भी सेहत को कई तरह से फायदा पहुंचाते हैं। अगर इस फल का सेवन किया जाए तो यह कई तरह से आपको फायदा पहुंचाते हैं। शरीफा खाने के लाभ  1 शरीफा में मौजूद विटामिन सी और आयरन हिमोग्लोबीन के स्तर को बढ़ाने तथा खून की कमी को दूर करने में लाभदायक है। 2

  • अगर फ्रूट जूस में मिलाते हैं बर्फ तो जाने इसके नुकसान!

    फ्रूट जूस में बर्फ मिलाकर पीना हर किसी को अच्‍छा लगता है। जब आप अपने ऑफिस के कैफेटेरिया या किसी लोकल दुकान से फलों का जूस ऑर्डर करते हैं तो जूस के गिलास में क्रश की हुई बर्फ सबसे पहले डाली जाती है। जहां यह बर्फ आपको गर्मी के मौसम में गर्मी से बहुत ज़्यादा राहत प्रदान करती है, इसीलिए क्रश की गयी बर्फ और फलों के रस को मिलाना आपको अच्छा लगता है? तो चलिए आज हम आपको बता रहे हैं फ्रूट जूस में बर्फ मिलाने के फायदे और नुकसान के बारे में। हो सकता है कि आपने कई लोगों से सुना होगा कि आपको कसी हुई या क्रश की गयी बर्फ और फलों के रस को मिलाना नहीं चाहिए क्योंकि इसके कुछ दुष्प्रभाव हो सकता है, लेकिन यह बात पूरी तरह ग़लत है। यह सिर्फ एक मिथक है। यदि आप अपने फलों के जूस में बर्फ मिलाते हैं तो आपके साथ कुछ भी नहीं होने वाला है। पोषक की कमी

  • इन घरेलू उपायों की मदद से ही दूर कर सकते हैं एसिडिटी की दिक्क्त

    कई बार ऐसा होता है कि बहुत अधिक मसालेदार खाना खाने से एसिडिटी की प्रॉब्लम हो जाती है. एसिडिटी के चलते भारीपन और पेट दर्द की शिकायत भी हो जाती है. एसिडिटी एक बहुत ही नॉर्मल प्रॉब्लम है, जिससे अक्सर लोगों को दो-चार होना पड़ता है. अगर आप तले हुए और चटपटे खाने के शौकीन हैं तो आपको भी ये प्रॉब्लम हो जाती होगी. एसिडिटी एक ऐसी प्रॉब्लम है जिसे आप बिना दवा के घरेलू उपायों की मदद से ही दूर कर सकते हैं. ये हैं वो 5 चीजें जिनके इस्तेमाल से आप बिना दवा लिए भी एसिडिटी की प्रॉब्लम से छुटकारा पा सकते हैं. 1. अजवायन एसिडिटी हो जाने पर अजवायन का उपाय बहुत कारगर होता है. दो चम्मच अजवायन को एक कप पानी में अच्छी तरह उबाल लें. जब ये पानी आधा हो जाए तो गैस बंद कर दें. ठंडा होने पर छानकर पी लें. अगर आपको स्वाद अच्छा न लगे तो आप इसम

  • बढ़ा हुआ वजन आपके लिए परेशानी बन रहा है तो अपनाये ये उपाय

    अगर आप भी थायराइड की वजह से अपने रोजमर्रा के काम करने में थकान महसूस करते हैं या फिर अचानक बढ़ा हुआ वजन आपके लिए परेशानी बन रहा है तो ये आसन आपकी परेशानी चंद दिनों में ही दूर कर सकता है। उदान मुद्रा थायराइड संबंधी सभी रोगों में लाभकारी है। इस मुद्रा के अभ्यास से मन -मस्तिष्क दोनों प्रभावित होते हैं। इसके साथ ही इसे प्रतिदिन करने से बुद्दि का विकास होता है।उदान मुद्रा से स्मरण-शक्ति और समझदारी बढ़ती है। मन शांत रहता है। व्यक्ति मानसिक रूप से स्थिर हो जाता है। थायरॉइड के रोगियों को इसके साथ उज्जायी प्राणायाम करने से बहुत लाभ होता है। इस योगासन को करने के लिए सबसे पहले अंगूठा, तर्जनी, मध्यमा और अनामिका उंगलियों के शीर्ष को एक साथ मिलाएं। कनिष्ठा को सीधा रखें। इसे प्रतिदिन 45 मिनट अवश्य करें। शुरूआत में थोड़ा कम करें, लेकिन कुछ दिनों के बाद आप समय बढ़ा सकते हैं। ल

  • हरी मिर्च खाने से इन स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से मिलेगा छुटकारा

    हरी मिर्च कई तरह के पोषक तत्वों जैसे- विटामिन ए, बी6, सी, आयरन, कॉपर, पोटेशियम, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होती है. यही नहीं इसमें बीटा कैरोटीन, क्रीप्टोक्सान्थिन, लुटेन -जॅक्सन्थि‍न आदि स्वास्थ्यवर्धक चीजें मौजूद हैं. वैसे तो आमतौर पर इसका इस्तेमाल खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए ही किया जाता रहा है लेकिन हाल में हुए कई शोध इस बात का दावा करते हैं कि हरी मिर्च खाने से कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है. 1. हरी मिर्च में विटामिन सी पर्याप्त मात्रा में होता है. विटामिन सी दूसरे विटामिन्स को शरीर में भली प्रकार अवशोषित होने में मदद करता है. 2. हरी मिर्च एंटी-ऑक्सीडेंट का एक अच्छा माध्यम है. हरी मिर्च में डाइट्री फाइबर्स प्रचुर मात्रा में होते हैं, जिससे पाचन क्रिया सुचारू बनी रहती है.

  • अमरुद खाने के जाने फायदे....

    अमरूद में मौजूद विटामिन और खनिज शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाने में मददगार होते हैं. साथ ही ये इम्‍यून सिस्‍टम को भी मजबूत बनाता है. अमरूद खाने की सलाह डॉक्‍टर भी देते हैं. अमरूद खाने के और क्‍या हैं फायदे.... 1. हाई एनर्जी फ्रूटअमरूद हाई एनर्जी फ्रूट है जिसमें भरपूर मात्रा में विटामिन और मिनरल्‍स पाए जाते हैं. ये तत्व हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी होते हैं. 2. डीएनए को सुधारे अमरूद में पाया जाने वाला विटामिन बी-9 शरीर की कोशिकाओं और डीएनए को सुधारने का काम करता है.  3. दिल का साथी अमरूद में मौजूद पोटैशियम और मैग्‍नीशियम दिल और मांसपेशियों को दुरुस्‍त रखकर उन्‍हें कई बीमारियों से बचाता है. 4. मजबूत करे इम्‍यूनिटी अगर आप अ

  • बीज आपकी बन सकता मौत की वजह

    वैसे तो कोई भी फल हेल्थ के लिए फायदेमंद होता है लेकिन सबसे ज्यादा कामगर फल सेब को माना जाता है। अक्सर सेब को खाते हुए लोग गलती से उसके बीज को भी खा लेते हैं लेकिन क्या आपको पता है यही बीज आपकी मौत की वजह बन सकता हैं।  शरीर में किसी भी चीज की अधिकता खतरनाक साइनाइड एक तरह का जहर होता है और ज्यादातर साइनाइड आपके शरीर के लिए कितना जहरीला है इसको ऐसे समझ लीजिए। 200 ग्राम बीज यानि कि आधा कप बीज की मात्रा आपके शरीर के लिए खतरनाक होती है। अगर किसे के शरीर में बीज की इतनी मात्रा पहुंच जाती है तो वो इंसान या तो कोमा की स्टेज में पहुंच जाएगा या फिर उसकी मौत हो सकती है। इसके अलावा सांस लेने में तकलीफ होना, ब्लड प्रेशर लो होना, हृदय की धड़कन बढ़ जाना, शरीर में कंपना होना जैसे कई और तरह की परेशानियां शुरू हो जाती है। इसके अलावा अगर किसी के शरीर में बीज की कम मात्रा भी

  • हार्ट अटैक की समस्या जड़ से होगी खत्म, खाये ये सब्जी

    शलगम एक ऐसी सब्जी है, जो खाने में काफी स्वादिष्ट लगती है। शलजम की सब्जी पोषक तत्वों से भरपूर होती है। विटामिन ए, सी और के से भरपूर इस हरे पत्तेदार को सलाद के रूप में भी खाया जाता है। इसमें कम कैलोरी होती है, जिस वजह से ये वजन कम करने वालों के लिए एक बेहतर विकल्प है। फाइबर से भरपूर ये सब्जी पाचन को बेहतर करने और आपको कब्ज जैसी गंभीर समस्या से बचाने में भी सहायक है। कहते हैं कि अगर आप शलगम की सब्जी खाने में शामिल करते हैं, तो इससे हार्ट अटैक की समस्या खत्म होती है। आइए जानते हैं कि यह बात कितनी सच है... शलजम में भरपूर मात्रा में फाइबर होते हैं, जिस वजह से ये मल त्याग में सुधार करने में सहायक है। अगर आप कब्ज की समस्या से पीड़ित हैं, तो ये सब्जी जरूर खाएं। वहीं, इम्युनिटी मजबूत करनी हो, तो भी आप शलगम का सेवन कर सकते हैं। अगर आप बार-बार सर्दी-खांसी और बुखार स