आगरा

  • दिल्ली से आगरा तक आने में रेल यात्रियों को 16 घंटे लगे

    आगरा। कैफियात एक्सप्रेस हादसे के बाद दिल्ली से आगरा तक आने में रेल यात्रियों को 16 घंटे लग गए। इतने घंटों में तो उन्हें गंतव्य तक पहुंचना था मगर ट्रेनों की बिगड़ी चाल से उनका सफर 30 घंटे में भी पूरा हो पाएगा, यह कहना मुश्किल है। दिल्ली के आनंद विहार से ट्रेन संख्या 12873 हातिया-आनंद विहार ट्रर्मिनल झारखंड के लिए चलती है। यह ट्रेन दिल्ली से अलीगढ़, टूंडला के रास्ते कानपुर होकर झारखंड जाती है। ट्रेन के रात में आठ बजे आनंद विहार स्टेशन से चलने का समय है, मगर मंगलवार की रात 10 बजे ट्रेन वहां से चली थी। इसके बाद ट्रेन औरेया स्टेशन तक पहुंचती, तब तक रात में कैफियत एक्सप्रेस का हादसा हो चुका था। ट्रैक बंद कर दिया गया था। ट्रेन को औरेया से पहले ही खड़ा कर दिया गया। घंटों तक ट्रेनें वहीं खड़ी रहीं। इसके बाद ट्रेन को धीरे-धीरे टूंडला तक लाया गया। सुबह काफी तक देर टूंडला स्ट

  • कैफियत एक्सप्रेस के बेपटरी होने के बाद बदले गए कई ट्रेनों के रूट

    आगरा। तीन दिन पहले पुरी से हरिद्वार जाने वाली उत्कल एक्सप्रेस मुजफफरनगर के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी अब मंगलवार देर रात्रि कानपुर और इटावा के बीच औरैया जिले के अछल्दा और पाता स्टेशन के बीच आजमगढ से दिल्ली जा रही कैफियत एक्सप्रेस डंपर से टकरा गई। इस हादसे में ट्रेन के 12 डिब्बे पटरी से उतर गए। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक हादसे में करीब 75 से अधिक रेल यात्री घायल हुए हैं। इस हादसे के बाद रेलवे द्वारा कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया तो वहीं दर्जन भर से अधिक ट्रेनों के रूर्ट डायवर्ट किए गए हैं। कैफियत एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद कानपुर-दिल्ली रेलमार्ग ठप हो गया है। कानपुर में खड़ी ट्रेनों को रूट डायवर्ट करके कासगंज होते हुए निकाला जा रहा है, जबकि इलाहाबाद से आने वाली ट्रेनों को लखनऊ-मुरादाबाद के रास्ते निकाला जा रहा है। इसके चलते रेल यात्रियों को परेशा

  • शिक्षामित्र पहुंचे लखनऊ, शुरू हुआ सत्याग्रह

    आगरा। सुप्रीम कोर्ट से निरस्त किए जाने के बाद धरना प्रदर्शन कर रहे समायोजित शिक्षक एवं असमायोजित शिक्षामित्र लखनऊ पहुंच गए हैं। लखनऊ में प्रदेश स्तरीय धरना प्रदर्शन हो रहा है। आगरा से बड़ी संख्या में शिक्षामित्रों के साथ उनके परिवारीजन भी इस प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए लखनऊ के लिए पहुंचे हैं। कुछ ही समय में सत्याग्रह शुरू होने वाला है।डायट परिसर में पिछले तीन दिनों से सत्याग्रह कर रहे थे। रविवार को वे लखनऊ के लिए रवाना हो गए। रविवार शाम बड़ी संख्या में लोग ट्रेन, बसों और अपने निजी वाहनों से लखनऊ के लिए निकले। जिलाध्यक्ष वीरेन्द्र छौंकर ने बताया कि आगरा से पांच हजार से अधिक लोग लखनऊ पहुंच गए हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश स्तरीय इस प्रदर्शन में शिक्षामित्र अपने हक के लिए सरकार को नींद से जगाएंगे। लखनऊ के लक्ष्मण मेला मैदान में शिक्षामित्र रविवार रात से जुटना श

  • पुत्रों ने मां के प्रेमी को दी खौफनाक सजा

    आगरा। पुलिस ने आखिरकार मौत का राज खोल ही दिया। यह राज बड़ा चैंकाने वाला है। पुलिस ने पाया है कि पुत्रों ने मां के प्रेमी को सजा दी। उसे मौत के घाट उतार दिया। पुत्रों का साथ पिता ने भी दिया। इसके लिए बाकायदा प्लानिंग की गई। थाना इरादतनगर के गांव सिंगैचा निवासी 40 वर्षीय गौरीशंकर पुत्र दरब सिंह की 31 जुलाई, 2017 को ट्रेन से टकाकर मृत्यु हो गई थी। परिजनों ने गौरीशंकर का अंतिम संस्कार कर दिया। किसी ने इस बारे में पुलिस को अवगत कराया कि मामला कुछ और ही है। इस पर थाना इरादतनगर पुलिस ने जांच की। जांच में पाया गया कि यह सामान्य मौत नहीं, बल्कि हत्या है। पुलिस ने पाया कि गौरी शंकर के श्रीमती रोहतानी देवी (बदला हुआ नाम) से  अवैध सम्बन्ध थे। इन अवैध सम्बन्धों की आम चर्चा  गांव में होने लगी। परिवार की बदनामी के कारण रोहतानी देवी के परिवारीजनों ने एक चाल चली। 30-3

  • 15 हजार का इनामी अभियुक्त गिरफ्तार

    आगरा।  थाना मलपुरा में पंजीकृत मुकदमा अपराध संख्या  362,14 धारा 364 भारतीय दंड विधान में वांछित चल रहे रुपये अभियुक्त प्रदीपम कुमार पुत्र राधेश्याम सारस्वत निवासी रानी लक्ष्मीबाई नगर कॉलोनी, जनपद झांसी को मधुनगर चैराहा थाना क्षेत्र सदर से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त थाना मलपुरा का 15 हजार रुपये  का इनामी अपराधी है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश चन्द्र दुबे के निर्देश पुलिस अधीक्षक ग्रामीण पश्चिमी एवं क्षेत्राधिकारी अछनेरा के नेतृत्व में यह गिरफ्तारी की गई।  

  • आगरा में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या बढ़ी

    आगरा। सामान्य बुखार, वायरल फीवर, मलेरिया के साथ ही ताजनगरी में स्वाइन फ्लू का प्रकोप बढ़ रहा है। शहर में नए मरीज देखने को मिल रहे हैं। निजी अस्पतालों में आने वाले मरीजों के साथ साथ एसएन मेडिकल कॉलेज में स्वाइन फ्लू के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं। हाल ही में कॉलेज में चार नए मरीजों को स्वाइन फ्लू की पुष्टि होने से अब मरीजों की संख्या बढ़ी है। अब तक 26 मरीजों को स्वाइन फ्लू हो चुका है। हालांकि इनमें 22 मरीज इससे सही हो चुके हैं, डॉक्टर इसे एक बड़ी कामयाबी मानकर चल रहे हैं। आगरा में इन दिनों बारिश कम हुई है। बारिश कम होने के चलते अभी डेंगू बुखार नहीं फैला, लेकिन स्वाइन फ्लू के मरीज आने लगे हैं। स्वाइन फ्लू की दहशत ऐसी है कि लोग सामान्य बुखार होने के बावजूद स्वाइन फ्लू का टेस्ट करा रहे हैं। चिकित्सकों का कहना है कि घबराने की जरूरत नहीं है, मौसम अभी ऐसा नहीं है कि स्व

  • ग्रामीणों ने प्राथमिक स्कूल पर जड़ा ताला, शिक्षकों को भगाया

    आगरा। पिनाहट के ब्लॉक बरपूरा पिढ़ौरा गांव स्थित प्राथमिक स्कूल में ग्रामीणों ने ताला जड़ दिया। स्कूल खोलने पहुंचे शिक्षकों को वहां से भगा दिया। शिक्षकों के ताले हटाकर ग्रामीणों ने अपने ताले लगा दिए और ऐलान किया, कि जब तक एक सप्ताह पूर्व स्कूल के छज्जा गिरने की घटना में कार्रवाई नहीं होती, तब तक स्कूल नहीं खोलने दिया जाएगा। मामला पिनाहट ब्लॉक के बरपूरा पिढौरा का है जहां विगत सोमवार को इंटरवल के दौरान कक्षाओं से बाहर निकल हुए थे और खेल-कूद कर रहे थे। तभी उनके ऊपर छज्जा अचानक से भरभराकर गिर गया, जिससे करीब आधा दर्जन बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायल बच्चों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। बीएसए अर्चना गुप्ता ने इस मामले में जांच के आदेश दिए थे। ग्रामीणों का कहना है कि न तो अभी तक जांच रिपोर्ट आई है और नाहीं आरोपियों के खि

  • सत्याग्रह में एक महिला शिक्षामित्र की तबियत बिगड़ी

    आगरा।  शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द होने के बाद और योगी आदित्यनाथ सरकार से कोई राहत न मिलती देख, शिक्षामित्रों ने सत्याग्रह शुरू कर दिया है। डायट परिसर में चल रहे इस आंदोलन में महिला शिक्षामित्र की हालत बिगड़ गई। शिक्षामित्र साथियों ने उसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। शिक्षामित्रों ने ऐलान किया है, कि भले ही जान चली जाए, लेकिन जब तक हक नहीं मिलता, ये सत्याग्रह जारी रहेगा। डायट परिसर में चल रहे प्रदर्शन के दौरान महिला शिक्षामित्र की तबियत बिगड़ी तो साथी शिक्षामित्र साथी बेचैन हो गए। आनन फानन में महिला शिक्षामित्र को उपचार के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां पर शिक्षामित्र की हालत गंभीर है। इस मामले में उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ के जिलाध्यक्ष वीरेन्द्र छौंकर ने बताया कि कोई भी अधिकारी  देखने तक नहीं आया। शिक्षामित्र ने